Corporation Meaning in Hindi | 🏬कॉर्पोरेशन क्या होता है।

Corporation Meaning in Hindi

Corporation को हिंदी में निगम कहा जाता है। Corporation एक बड़ी कंपनी या कंपनीयों के समूह को एक साथ नियंत्रित करने वाला कानूनी तौर पर एक संगठन होता है। जिसके पास कंपनी या कंपनीयों से संबंधित कोई भी निर्णय लेने का क़ानूनी अधिकार होता है।

व्यापार और बिजनेस की दुनिया में कॉर्पोरेशन एक महत्वपूर्ण शब्द है। यह एक व्यापारिक संगठन होता है जिसे कंपनीयों और शेअर धारकों द्वारा व्यवसाय से संबंधित विकास और अंतर्गत गतिविधियों को नियंत्रित करने के लिए स्थापित किया जाता है। इस लेख में, हम कॉर्पोरेशन की परिभाषा और इसके महत्व को समझने का प्रयास करेंगे।

यह आर्टिकल आपको “कॉर्पोरेशन का अर्थ” के विषय पर एक स्पष्ट और व्यावसायिक जानकारी प्रदान करेगा, जिससे आप इस महत्वपूर्ण विषय को बेहतर रूप से समझ सकेंगे।

Corporation Highlights

  • Corporation को हिंदी में निगम कहा जाता है।
  • Corporation एक कानून न बॉडी या एक लीगल एंटिटी होती है, जो किसी बड़ी कंपनी या कंपनीयों के समूह को एक साथ नियंत्रित करतीं हैं।
  • Corporation के अंतर्गत विभिन्न उत्पादों और सेवाओं का निर्माण और वितरण किया जाता है, जिससे विभिन्न ग्राहकों की आवश्यकताएं पूरी की जा सकती हैं।
  • संगठन के अधिकार, संरचना और उनके उद्देश्य के आधार पर कॉर्पोरेशन के अलग अलग प्रकार होते हैं।

कॉर्पोरेशन क्या है? corporation meaning in Hindi

कॉर्पोरेशन, व्यापार और व्यवसाय के क्षेत्र में एक बड़ा और महत्वपूर्ण शब्द है। यह वह संगठन होता है जिसे कम्पनी भी कहा जाता है और इसे कानूनी रूप से अलग एक व्यक्ति के रूप में मान्यता दी जाती है, जो इसके मालिकों या सेयरहोल्डर्स से अलग होता है।

कॉर्पोरेशन को “कंपनी” या “संगठन” के रूप में भी जाना जाता है। इसे कानूनी रूप से अलग व्यक्ति के रूप में मान्यता प्राप्त किया जाता है, जिससे यह अपने संस्थापक सदस्यों द्वारा नियंत्रित होता है। कॉर्पोरेशन का मूल उद्देश्य व्यापारिक गतिविधियों को संचालित करना होता है।

इसके अंतर्गत विभिन्न उत्पादों और सेवाओं का निर्माण और वितरण किया जाता है, जिससे विभिन्न ग्राहकों की आवश्यकताएं पूरी की जा सकती हैं।

कॉर्पोरेशन अपने आप में अधिकारी और जिम्मेदारियों के साथ एक विशिष्ट नायकता होती है जो कानून के दृष्टिकोण से उसके सदस्यों को अलग रूप से देखता है। Corporation एक कानून न बॉडी या एक लीगल एंटिटी होती है, जो किसी बड़ी कंपनी या कंपनीयों के समूह को एक साथ नियंत्रित करतीं हैं।

कॉर्पोरेशन का महत्व। Importance of Corporation’s

Corporation व्यापार और आर्थिक विकास में एक महत्वपूर्ण योगदान देता है। यह एक माध्यम है जिसके माध्यम से उद्यमियों और निवेशकों को आवश्यक संसाधन और पूंजी प्रदान की जाती है, जिससे वे नए और उच्चतर स्तर पर व्यवसाय की शुरुआत कर सकते हैं। इससे न केवल रोजगार के अवसर पैदा होते हैं, बल्कि समाज में विकास भी होता है।

कॉर्पोरेशन न केवल अपने धार्मिक और कानूनी कर्तव्यों को पालन करता है, बल्कि सामाजिक और पर्यावरणीय मामूलों के प्रति भी जिम्मेदार होता है। यह समाज के हित में उच्चतम दर्जे के नैतिक एवं आदर्शिक मानकों का पालन करता है और समाज के विकास में अपना योगदान देता है।

कॉर्पोरेशन प्रकार। Types of Corporation’s in Hindi

संगठन के अधिकार, संरचना और उनके उद्देश्य के आधार पर कॉर्पोरेशन के मेनली चार प्रकार होते हैं।

1. Private Corporation’s

यह वह कॉर्पोरेशन कंपनीयां होती है जिनपर पुरा अधिकार किसी व्यक्तिगत लोगों के पास होता है और उनका उद्देश्य व्यापार और व्यवसाय के जरिए लाभ कमाना होता है।

जैसे कि Reliance Industries Limited, Tata, Adani यह private सेक्टर के कुछ बड़े कॉर्पोरेशन है।

2. Government Corporation

यह वह कॉर्पोरेशन होते हैं जिन्हें पुरी तरह से गवर्नमेंट द्वारा चलाया जाता है और इनका उद्देश्य व्यापार से लाभ कमाने का नहीं होता है।

Government Corporation का एक अच्छा उदाहरण है Municipal Corporation जिसे पुरी तरह से गवर्नमेंट द्वारा चलाया जाता है।

3. Private or Government Corporation

यह ऐसे corporation होते हैं जो गवर्नमेंट के अंतर्गत काम करते है, लेकिन इन्हें बाकी कंपनीयों की तरह ही व्यापार और व्यवसाय के रूप में चलाया जाता है। जैसे कि LIC – Life insurance corporation Ltd, Transportation Corporation, Electricity Corporation जो सरकार द्वारा नियंत्रित किए जाते हैं लेकिन उनमें शेअर धारक अन्य व्यक्ति हो सकतें हैं।

4. Non Profitable Corporation

यह वह कॉर्पोरेशन होते हैं जिनका उद्देश्य किसी धार्मिक, शैक्षणिक, सामाजिक कार्यों से संबंधित होता है। जिनका उद्देश्य व्यापार करना नहीं होता है।

जैसे कि Reliance Foundation, TATA Foundation यह कुछ बड़े non profitable corporation के उदाहरण है।

Incorporate Company Meaning in Hindi

Incorporate का मतलब होता है जब कोई कंपनी कानुनी तौर पर एक लीगल एंटिटी बनती है तो उसे Incorporate कहा जाता है।

यानी जब कोई व्यवसाय लीगल एक नाम के साथ रजिस्टर होता है तब उसे कंपनी के तौर पर देखा जाता है। यानी जब कोई सामान्य व्यवसाय रजिस्ट्रेशन के माध्यम से एक Corporate यानी एक लीगल कंपनी बनती है तब उसे Incorporate Company कहा जाता है।

सारांश:

कॉर्पोरेशन के विभिन्न प्रकार अपने-अपने उद्देश्यों, संरचना, और संचालन में अलग-अलग होते हैं। जैसे प्रायवेट कॉर्पोरेशन व्यवसाय से लाभ उत्पन करने के उद्देश्य से काम करते हैं, गवर्नमेंट कॉर्पोरेशन लाभ के साथ साथ विशिष्ट व्यवसाय में सरकार के अस्तित्व और नियमों से चलते हैं और non profitable corporation जिनका उद्देश्य सामाजिक कार्यों में का करने का होता है।

FAQ About Corporation

  1. कारपोरेशन का अर्थ क्या होता है?

    कार्पोरेशन का हिंदी में अर्थ होता है निगम। एक कंपनी या अलग-अलग कंपनीयों को जिस कानूनी संघटन द्वारा संचालित किया जाता है उस संघटन को ही कॉर्पोरेशन यानी निगम कहा जाता है। जैसे कि टाटा समूह, रिलायंस समूह Etc..

  2. Corporation का मालिक कौन होता है।

    Corporation का मालिक उसके शेअर्स के आधार पर तय होता है। एक Corporation के एक से ज्यादा मालिक हो सकतें हैं। जिसके पास कंपनी के 50% शेअर्स हो वह कंपनी का मालिक कहलाता है।

  3. क्या Corporation और Corporate अलग अलग होते हैं।

    नहीं। किसी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को ही कॉर्पोरेट कहा जाता है जबकि उसके लीगल एंटिटी को कॉर्पोरेशन कहा जाता है।

Open a Demat account with zerodha and upstox and start your investment journey today!

Leave a Comment